Must Read

क्या ये सच है की ICAI मार्क्स नहीं देता ?

आजकल इंटरनेट पर कुछ इंस्टीट्यूट अपनी बेतुकी बयानबाजी से चार्टेड अकाउंटेंट की स्वतंत्र संस्था ICAI की प्रतिस्ठा को गिराने की नाकाम कोशिश कर रहे है | उनका ये कहना है की ICAI बच्चों के सही उत्तर पर भी मार्क्स नहीं देता | ऐसा वे इसलिए कह रहे है की उनके पास उनके इंस्टीट्यूट के खराब रिजल्ट का कोई जवाब नहीं है | जिन छात्रों ने उनके इंस्टीट्यूट पर विश्वास करके अपना पैसा और कीमती समय खर्च किया है वे अब अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे है | और उन बच्चो और उनके पेरेंट्स के सवालों के जवाब ना होने पर अब ये इंस्टीट्यूट बेवजह ICAI को कोसने लगे है |

जैसा की सभी को  पता है की ICAI एक स्वतंत्र नियामक संस्था है जिसके सभी नियम और कानून पर पूरी तरह ICAI की कौंसिल का नियंत्रण होता है | उस पर उंगुली उठाकर ये इंटस्टीट्यूट प्रचार भी पाना चाहते है | 

आज ICAI की प्रतिष्ठा केवल भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में बहुत अधिक है | यहाँ की पढाई और सिलेबस को दुनिया में मान्यता प्राप्त है | और केवल देश ही नहीं विदेशों से भी छात्र CA बनकर अपने कैरियर को सफल बनाने यहाँ आते है | केवल भारत ही नहीं विश्व के कई देशो में ICAI के सेण्टर है जहा पर CA कोर्स की परीक्षायें आयोजित की जाती है | CA को दुनिया की कुछ सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है | 

 हर साल रिजल्ट आने के बाद कुछ इंस्टीट्यूट और उनके टीचर्स अपने इंस्टीट्यूट की असफलता के लिए बहाने खोजने लगते है | ICAI मार्क्स सही नहीं देती है  ऐसे सवाल खड़े करके वे अपनी असफलताओं को छिपाने का असफ़ल प्रयास करते है | ये असफल इंस्टीयूट ना सिर्फ अपनी असफलता को छिपाना चाहते है बल्कि गलत बयानी करके जो नए छात्र CA करना चाहते  है, उनके मन में डर पैदा करने का काम करते है |ऐसे लोगो के लिए हिंदी में एक मुहावरा भी है नाच ना जाने आँगन टेढ़ा | इसका मतलब की जिनको नाच नहीं आता वो ये कहने लगते है की आँगन ही ऊंचा निचा है | ये ही हाल आज के कई CA इंस्टीट्यूट के है |

CA के रिजल्ट से सच आया सामने    

इस बार के रिजल्ट ने भी इन इंस्टीट्यूट के इस दावे की “ICAI मार्क्स नहीं देता है” के झूठ को बेनकाब कर दिया है | इस बार CA कोर्स में रिजल्ट बहुत अच्छा रहा है | इस बार CA फाउंडेशन की परीक्षा में 30971 छात्र बैठे थे जिनमे से 18.57% छात्र यानि की 5753 छात्र परीक्षा में सफल हुए है | 

CA फाइनल के परिणाम की बात करें तो इस बार CA न्यू कोर्स में 26515 छात्र परीक्षा में बैठे थे| जिनमें से 26.62% यानि की 7060 स्टूडेंट पास हुए है और ओल्ड कोर्स में कुल 77557 छात्र  जिनमें से 17288 छात्र पास हुए | ओल्ड कोर्स में पास प्रतिशत रिजल्ट 22% रहा | अगर किसी भी अन्य प्रोफेशनल कोर्स से तुलना की जाये तो CA कोर्स का रिजल्ट अच्छा रहता है | और CA फाइनल की परीक्षा में बैठने वाला हर 5 वा स्टूडेंट CA बनकर निकलता है |

CA बनने का क्या है सही रास्ता 

CA बनने के लिए सबसे जरुरी है पोजेटिव सोच | अगर छात्र कुछ नेगेटिव सोच रहे है या किसी ऐसे कोचिंग या मेंटर से गाइडेंस ले रहे है जिसकी अप्रोच नेगेटिव है | तो वे चाहे कितनी भी मेहनत  कर ले उन्हें असफलता ही हाथ लगेगी | CA एक आसान लक्ष्य नहीं है | CA बनने के लिए कड़ी मेहनत की जरुरत होती है, यह तो सभी को पता है | लेकिन एक गलत दिशा कड़ी मेहनत को भी व्यर्थ कर देती है| CA के लिए पढाई के लिए छात्रों को अच्छी पढाई के साथ ही नेगेटिव लोगों से दूर रहना भी जरुरी है | क्युकी नेगेटिव लोग ना तो स्वयं आगे बढ़ते है बल्कि और स्टूडेंट्स को भी डिमोटिवेट करके आगे बढ़ने से रोकते है | 

क्या स्कूल के टॉपर ही CA टॉप करते है ?

CA कोर्स में इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की छात्र ने अपनी पिछली क्लासेज में टॉप किया था या वह एक औसत छात्र था | बहुत बार ऐसा होता है की यहाँ टॉप छात्र पास भी नहीं हो पाते है और सामान्य छात्र पहले ही प्रयास में CA कोर्स को क्लीयर कर जाते है | ऐसा इसलिए है की जो छात्र इस कोर्स को आसान समझकर तैयारी करते है और सही गाइडेंस नहीं  लेते है वे इसमें सफल नहीं हो पाते है | और अगर एक औसत छात्र भी अगर पुरे ध्यान और समर्पण और सही गाइडेंस के साथ CA की तैयारी करता है तो इसमें सफल हो पाता है | 

सही गाइडेंस के लिए चुने सही कोचिंग 

CA कोर्स में सफलता पाने के लिए सही मार्गदर्शन का मिलना बहुत जरुरी है | छात्रों को सही गाइडेंस पाने के लिए सही कोचिंग का चुनाव बहुत ही सोच समझकर करना चाहिए | CA कोर्स में सफलता के लिए सही कोचिंग चुनना एक बहुत ही महत्वपूर्ण निर्णय होता है सफलता को तय करने में | क्युकी यह एक प्रोफेशनल कोर्स है और यहाँ केवल सही उत्तर देने से ही अच्छे अंक प्राप्त नहीं होते है | इसके साथ ही अंक इस बात पर भी निर्भर करते है की उत्तर प्रस्तुत करने का तरीका कैसा है और उसको किस तरह से समझाकर लिखा गया है | और इसके लिए छात्रों को सही गाइडेंस का मिलना बेहद जरुरी है | इस समय देश के कुछ ऐसे इंस्टीट्यूट है, जिन्होंने अपने मार्गदर्शन से बड़ी संख्या में छात्रों को CA बनने में मदद की है | 

देश के बेस्ट  CA कोचिंग इंस्टीट्यूट  

देश में कुछ ऐसे इंस्टीट्यूट है जिन्होंने साल दर साल CA की परीक्षाओं में अच्छा रिजल्ट देकर साबित कर दिया है की उन्होंने अपने इंस्टीट्यूट में छात्रों को सही गाइडेंस दिया है और यही उनकी सफलता का कारन है | 

दिल्ली के कुछ इंस्टीट्यूट ने अपने सफल परिणामों से यह जाहिर कर दिया है की वहां पर पढाई का स्तर कितना ऊँचा है | और उन्होंने पिछले कुछ सालों में अपने परिणाम से देश भर के छात्रों को अपने इंस्टीट्यूट की और आकर्षित किया है | यहाँ पर छात्रों की छोटी से छोटी समस्याओ को समझकर उन्हें टीचर्स द्वारा दूर किया जाता है | इसके लिए यहाँ पर एक्स्ट्रा कोचिंग क्लासेज भी चलायी जाती है | निचे देखे इन इंस्टीट्यूट के सफल रिजल्ट को | 

मुंबई भी CA कोचिंग के लिए एक अच्छा स्थान है | यहाँ पर कई ऐसे इंस्टीट्यूट है जिन्होंने अपने सफल परिणामों से बड़ी संख्या में छात्रों को CA बनने में मदद की है | इन्होने पिछले कुछ सालों में कई AIR देकर साबित कर दिया है की उनका ध्यान अपने इंस्टीट्यूट में अधिक से अधिक छात्रों को सफल बनाने में है ना की किसी को कोसने में | इन इंस्टीट्यूट ने अपनी कमियों को दूर करते हुए साल दर साल अपने रिजल्ट को अच्छा बनाने में मदद की | और आज इनका सफल रिजल्ट से आज छात्रों के मन में इन इंस्टीट्यूट की प्रतिष्ठा भी बनी है | 

अगर इस समय देश के सबसे अग्रणी और सफल CA इंस्टीट्यूट की बात करें तो वह है जयपुर शहर का विद्यासागर कैरियर इंस्टीट्यूट | विद्यासागर ने अपने रिजल्ट से साबित कर  दिया है की CA कोचिंग में उसका कोई मुकाबला नहीं है | VSI ने पिछले 8 सालों में 6 से भी अधिक AIR 1st रैंक देकर अपने प्रतिद्वंदियों को बहुत पीछे छोड़ दिया है | VSI ने 2018 और 2019 की CA फाइनल परीक्षा में ऑल इंडिया 1st रैंक दी है | 

VSI के छात्र अतुल अग्रवाल ने CA फाइनल नवंबर 2018 की परीक्षा में 800 में से 618 अंक प्राप्त कर 1st रैंक हासिल की | और मई 2019 में VSI के ही छात्र अजय अग्रवाल ने CA फाइनल के इतिहास में सबसे अधिक 800 में से 650 अंक हासिल करके AIR 1st रैंक हासिल कर VSI  का नाम रोशन किया है | इसी साल CA इंटरमीडिएट 2019 में भी VSI के छात्र अक्षत गोयल ने 800 में से 735 अंक के साथ AIR 1st रैंक हासिल कर बता दिया है की विद्यासागर इंस्टीट्यूट में पढाई का स्तर कितना ऊँचा है | 

You Might Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>